देश

आज भौम प्रदोष व्रत,बुधवार को होगी महाशिवरात्रि,जानिए भाग्य की रेखा बदलने हेतु विशेष उपाय

देश 13 Feb, 2018 03:04 AM
shiv

MM NEWS TV / पण्डित महेश प्रधान — आज भौम प्रदोष व्रत है।कल बुधवार को महाशिवरात्रि का व्रत है। शिवरात्रि प्रत्येक मास में चतुर्दशी के दिन आती है। आज तेरस रात्रि 10:30 बजे तक ही है उसके बाद चतुर्दशी प्रारंभ हो जाएगी। कल बुधवार को रात्रि 12:46 तक रहेगी। इसलिए महाशिवरात्रि का व्रत कल ही है 14 फरवरी को मनाई जाएगी महाशिवरात्रि।महाशिवरात्रि के व्रत में सभी प्रकार की पूजा का फल मिलता है। केवल महाशिवरात्रि पर ही आप शिवलिंग पर कुमकुम लगा सकते हैं क्योंकि शिवरात्रि पर शिव और पार्वती एक साथ शिवलिंग में रहते हैं।जिनके बार बार कर्ज में बढ़ोतरी हो रही है वे आज भौम प्रदोष को लाल मसूर शिवलिग पर ॐ ऋण मुक्तेश्वराय नमः मंत्र बोलते हुए अर्पण करें। आज अनार का रस कनक धारा का पाठ करते हुए प्रदोष काल (सूर्यास्त से कुछ समय पहले) में शिवलिग पर अर्पण करें।आशातीत फल मिलेगा।बुधवार 14 फरवरी को महाशिवरात्रि पर दारिद्र्य दोष निवारण हेतु आसान प्रयोग करें।आप एक दिन पूर्व मंगलवार को सवा किलो दही साफ सफेद सूती वस्त्र में बांध कर किसी ऊँची जगह लटका देवे।नीचे कोई बर्तन रख देवे जिसमे पानी गिरता रहेगा।रात भर में दही का पानी निकल जायेगा और केवल दही का एक पिण्ड बना हुआ रहेगा।इसी पिंड की पूजा शिवलिग मानकर करें।आरती के बाद श्री सूक्त का पाठ अवश्य करें।फिर इसे किसी शिवमंदिर में अर्पण करें। आपको परिणाम स्वतः ही दिखाई देगा। महाशिवरात्रि पर भाग अर्पण करने से भोलेनाथ अति प्रसन्न होते है।जिनके सूर्य की महादशा हो,सूर्य6,8,12 वे भाव मे हो,जिनकी सिंह राशि हो वे जातक लाल कनेर,आंकड़े के फूलों की माला पहनावें।जिनके चन्द्रमा की महादशा चल रही है,चन्द्रमा 6,8,12 वे भाव मे हो अथवा कर्क राशि वाले जातक सफेद आंकड़े के फूलों की माला पहनावे।जिनके मंगल की महादशा चल रही हो,मंगल 1-4-7-8-12वे भाव मे हो अथवा मेष ओर वृश्चिक राशि हो वे गुड़हल ओर गुलाब के फूलों की माला पहनावे।जिनके बुध की महादशा चल रही है।बुध 6,8,12 वे भाव मे अथवा जिनकी मिथुन ओर कन्या राशि हो वे हरे फूल,अपामार्ग की पतियों की माला अथवा इलायची की माला पहनावे।जिनके गुरु की महादशा चल रही है,गुरु 6,8,12 वे भाव मे हो जिनकी धनु या मीन राशि हो वे पीले गेंदे के फूल पीले गुलाब के फूलों की माला पहनावे।जिनके शुक्र की महादशा चल रही हो,शुक्र 6,8,12 वे भाव मे हो अथवा जिनकी वर्षभ ओर तुला राशि हो वे सफेद कनेर के फूल, हर सिंगार के फूल अथवा सफेद गुलाब के फूलों की माला पहनावे।जिनके शनि की महादशा चल रही है,शनि 6,8,12 वे भाव मे हो अथवा जिनके मकर या कुम्भ राशि हो वे अपराजिता के फूल,नीले विषटर के फूल,अथवा सरसो के फूल की माला शमी पत्र के साथ पहनावें।जिनके राहु की महादशा हो और राहु सूर्य चन्द मंगल गुरु शनि के साथ हो वे दूर्वा की माला बनाकर पहनावे।जिनके केतु की महादशा चल रही हो जिनके केतु सूर्य चन्द्र मंगल गुरु शनि के साथ हो वे पलाश के फूलों की माला पहनावे ।

shivratri

व्रत पर्व विवरण – महाशिवरात्रि व्रत, रात्रि-जागरण शिव-पूजन (निशीथकाल – रात्रि 12:28 से 01:18 तक), (प्रहर – प्रथम – शाम 06:36 से, द्वितीय – रात्रि 09:44 से, तृतीय – मध्यरात्रि 12:53 से, चतुर्थ – 14 फरवरी प्रातः 04:01 से), भौमप्रदोष व्रत, विष्णुपदी संक्रांति (पुण्यकाल सूर्योदय से दोपहर 12:53 तक)
💥 विशेष – त्रयोदशी को बैंगन खाने से पुत्र का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🌷 महाशिवरात्रि 🌷
🙏🏻 शिवरात्रि का व्रत, पूजन, जागरण और उपवास करनेवाले मनुष्य का पुनर्जन्म नहीं होता है। (स्कंद पुराण)
🙏🏻 शिवरात्रि के समान पाप और भय मिटानेवाला दूसरा व्रत नहीं है। इसको करनेमात्र से सब पापों का क्षय हो जाता है। (शिव पुराण)
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🌷 शिवरात्रि के दिन करने योग्य विशेष बातें
🙏🏻 १. शिवरात्रि के दिन की शुरुआत ये श्लोक बोल के शुरू करें :-
🌷 देव देव महादेव नीलकंठ नमोस्तुते l
कर्तुम इच्छा म्याहम प्रोक्तं, शिवरात्रि व्रतं तव ll
🙏🏻 2. काल सर्प के लिए महाशिवरात्रि के दिन घर के मुख्य दरवाजे पर पिसी हल्दी से स्वस्तिक बना देना….शिवलिंग पर दूध और बिल्व पत्र चढ़ाकर जप करना और रात को ईशान कोण में मुख कर के जप करना l
🙏🏻 3. शिवरात्रि के दिन ईशान कोण में मुख करके जप करने की महिमा विशेष है, क्यूंकि ईशान के स्वामी शिव जी हैं l रात को जप करें, ईशान को दिया जलाकर पूर्व के तरफ रखे, लेकिन हमारा मुख ईशान में हो तो विशेष लाभ होगा l जप करते समय झोखा आये तो खड़े होकर जप करना l
🙏🏻 4. कल महाशिवरात्रि को कोई मंदिर में जाकर शिवजी पर दूध चढाते हैं तो ये ५ मंत्र बोलें :-
🌷 ॐ हरये नमः
🌷 ॐ महेश्वराए नमः
🌷 ॐ शूलपानायाय नमः
🌷 ॐ पिनाकपनाये नमः
🌷 ॐ पशुपतये नमः

🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🌷 विष्णुपदी संक्रांति 🌷
➡ 13 फरवरी 2018 मंगलवार को विष्णुपदी संक्रांति (पुण्यकाल सूर्योदय से दोपहर 12:53 तक)
🙏🏻 विष्णुपदी संक्रांति में किये गये जप-ध्यान व पुण्यकर्म का फल लाख गुना होता है । ( पद्म पुराण )
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🌷 व्यतिपात योग 🌷
🙏🏻 व्यतिपात योग की ऐसी महिमा है कि उस समय जप पाठ प्राणायम, माला से जप या मानसिक जप करने से भगवान की और विशेष कर भगवान सूर्यनारायण की प्रसन्नता प्राप्त होती है जप करने वालों को, व्यतिपात योग में जो कुछ भी किया जाता है उसका १ लाख गुना फल मिलता है।
🙏🏻 वाराह पुराण में ये बात आती है व्यतिपात योग की।
🙏🏻 व्यतिपात योग माने क्या कि देवताओं के गुरु बृहस्पति की धर्मपत्नी तारा पर चन्द्र देव की गलत नजर थी जिसके कारण सूर्य देव अप्रसन्न हुऐ नाराज हुऐ, उन्होनें चन्द्रदेव को समझाया पर चन्द्रदेव ने उनकी बात को अनसुना कर दिया तो सूर्य देव को दुःख हुआ कि मैने इनको सही बात बताई फिर भी ध्यान नही दिया और सूर्यदेव को अपने गुरुदेव की याद आई कि कैसा गुरुदेव के लिये आदर प्रेम श्रद्धा होना चाहिये पर इसको इतना नही थोडा भूल रहा है ये, सूर्यदेव को गुरुदेव की याद आई और आँखों से आँसु बहे वो समय व्यतिपात योग कहलाता है। और उस समय किया हुआ जप, सुमिरन, पाठ, प्रायाणाम, गुरुदर्शन की खूब महिमा बताई है वाराह पुराण में।
💥 विशेष ~ व्यतीपात योग – 13 फरवरी 2018 मंगलवार को दोपहर 02:35 से 14 फरवरी 2018 बुधवार को शाम 03:14 तक व्यतिपात योग है।
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🌷 आर्थिक परेशानी या कर्जा हो तो 🌷
➡ 13 फरवरी 2018 मंगलवार को भोम प्रदोष योग है ।
🙏🏻 किसी को आर्थिक परेशानी या कर्जा हो तो भोम प्रदोष योग हो, उस दिन शाम को सूर्य अस्त के समय घर के आसपास कोई शिवजी का मंदिर हो तो जाए और ५ बत्ती वाला दीपक जलाये और थोड़ी देर जप करें :
👉🏻 ये मंत्र बोले :–
🌷 ॐ भौमाय नमः
🌷 ॐ मंगलाय नमः
🌷 ॐ भुजाय नमः
🌷 ॐ रुन्ह्र्ताय नमः
🌷 ॐ भूमिपुत्राय नमः
🌷 ॐ अंगारकाय नमः
👉🏻 और हर मंगलवार को ये मंगल की स्तुति करें:-
🌷 ” गर्णी गर्भ शंभुतं, विधुत कान्ति समप्रभ
कुमारं शक्ति हस्त, मंगलं प्रणाममहं “
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🌷 महाशिवरात्रि – भाग्य की रेखा बदलने हेतु ( युवा विशेष)
जिनकी उम्र 15 से 45 साल के अन्दर है..उनको अगर कोई बीमारी नहीं है…शुगर नहीं है… हो सके तो हिम्मत दिखाकर … सुबह के सूर्योदय से लेकर अगले दिन के सूर्योदय तक पानी भी न पिए… भाग्य की रेखा न बदले तो मुझे कहना …महा शिवरात्रि के सूर्योदय से अगले दिन के सूर्योदय तक निर्जला उपवास | जो ज्यादा दुबले -पतले हो वे ये न करें | जो बराबर ठीकठाक हो वे जरुर करें … बहुत फायदा होगा..युवान भाई-बहनों को तो मैं आग्रहपूर्वक कहुंगा कि महाशिवरात्रि के दिन निर्जला उपवास जरुर करें और रात को फिर सो मत जाओ ..रात को २-३-४ बजे तक जगकर जप करें | युवा भाई-बहनें खास हिम्‍मत करें और जप करो तो पूर्व और उत्तर के बीच ..ईशान कोण पड़ता है..उधर मुंह कर के जप करना |
🙏🏻 और एक माला महामृत्युंजय मंत्र की अपने गुरुदेव को दक्षिणा दो और प्राथना करें ” हे भोला नाथ ! हमारे बापूजी हमें प्रीति देते है..ज्ञान देते है ..शक्ति देते है ..दीक्षा देते है …ऐसे हमारे गुरुदेव का स्वास्थ्‍य बढ़िया रहे और हमारे गुरुदेव की आयु खूब -खूब लंबी हो ” रात को १२ बजे ..१२:३० बजे ..१ बजे जब भी करना चाहो तब करना जरूर | ये पवित्र तिथि के दिन अपना भजन ..भक्ति बढ़ाने के दिन है | इस का जरुर से फायदा उठाये |
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🌷 महाशिवरात्रिः कल्याणमयी रात्रि 🌷
🙏🏻 ‘स्कन्द पुराण’ के ब्रह्मोत्तर खंड में आता है कि ‘शिवरात्रि का उपवास अत्यंत दुर्लभ है। उसमें भी जागरण करना तो मनुष्यों के लिए और दुर्लभ है। लोक में ब्रह्मा आदि देवता और वसिष्ठ आदि मुनि इस चतुर्दशी की भूरि भूरि प्रशंसा करते हैं। इस दिन यदि किसी ने उपवास किया तो उसे सौ यज्ञों से अधिक पुण्य होता है।’
🙏🏻 ‘शिव’ से तात्पर्य है ‘कल्याण’ अर्थात् यह रात्रि बड़ी कल्याणकारी रात्रि है। इस रात्रि में जागरण करते हुए ॐ…. नमः…. शिवाय… इस प्रकार, प्लुत जप करें, मशीन की नाईं जप पूजा न करें, जप में जल्दबाजी न हो। बीच-बीच में आत्मविश्रान्ति मिलती जाय। इसका बड़ा हितकारी प्रभाव अदभुत लाभ होता है।
🙏🏻 शिवपूजा में वस्तुओं का कोई महत्त्व नहीं है, भावना का महत्त्व है। भावे ही विद्यते देव…. चाहे जंगल या मरूभूमि में क्यों न हो, वहाँ रेती या मिट्टी के शिवजी बना लिये, उस पर पानी के छींटे मार दिये, जंगली फूल तोड़कर धर दिये और मुँह से ही नाद बजा दिया तो शिवजी प्रसन्न हो जाते हैं।
🙏🏻 आराधना का एक तरीका यह है कि उपवास रखकर पुष्प, पंचामृत, बिल्वपत्रादि से चार प्रहर पूजा की जाय।
🙏🏻 दूसरा तरीका यह है कि मानसिक पूजा की जाय। हम मन-ही-मन भावना करें-
🌷 ज्योतिर्मात्रस्वरूपाय निर्मलज्ञानचक्षुषे।
नमः शिवाय शान्ताय ब्रह्मणे लिंगमूर्तये।।
🙏🏻 ‘ज्योतिमात्र (ज्ञानज्योति अर्थात् सच्चिदानंद, साक्षी) जिनका स्वरूप है, निर्मल ज्ञान ही जिनका नेत्र है, जो लिंगस्वरूप ब्रह्म है, उन परम शांत कल्याणमय भगवान शिव को नमस्कार है।’
🙏🏻 महाशिवरात्रि की रात्रि में ॐ बं, बं…. बीजमंत्र के सवा लाख जप से गठिया जैसे वायु विकारों से छुटकारा मिलता है।
🙏🏻 क्या करें क्या न करें पुस्तक से
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞
🌷 शिवरात्रि की रात ‘ॐ नमः शिवाय’ जप
🙏🏻 शिवजी का पत्रम-पुष्पम् से पूजन करके मन से मन का संतोष करें, फिर ॐ नमः शिवाय…. ॐ नमः शिवाय…. शांति से जप करते गये। इस जप का बड़ा भारी महत्त्व है। अमुक मंत्र की अमुक प्रकार की रात्रि को शांत अवस्था में, जब वायुवेग न हो आप सौ माला जप करते हैं तो आपको कुछ-न-कुछ दिव्य अनुभव होंगे। अगर वायु-संबंधी बीमारी हैं तो ‘बं बं बं बं बं’ सवा लाख जप करते हो तो अस्सी प्रकार की वायु-संबंधी बीमारियाँ गायब !
🙏🏻 ॐ नमः शिवाय मंत्र तो सब बोलते हैं लेकिन इसका छंद कौन सा है, इसके ऋषि कौन हैं, इसके देवता कौन हैं, इसका बीज क्या है, इसकी शक्ति क्या है, इसका कीलक क्या है – यह मैं बता देता हूँ। अथ ॐ नमः शिवाय मंत्र। वामदेव ऋषिः। पंक्तिः छंदः। शिवो देवता। ॐ बीजम्। नमः शक्तिः। शिवाय कीलकम्। अर्थात् ॐ नमः शिवाय का कीलक है ‘शिवाय’, ‘नमः’ है शक्ति, ॐ है बीज… हम इस उद्देश्य से (मन ही मन अपना उद्देश्य बोलें) शिवजी का मंत्र जप रहे हैं – ऐसा संकल्प करके जप किया जाय तो उसी संकल्प की पूर्ति में मंत्र की शक्ति काम देगी।

आप सभी को शिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं ;-

Follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News

eg
dr. manish ad
media multinate banner
kid-zee
मीडिया को करना हो मल्टीनेट चुनिए मीडिया मल्टीनेट #MEDIAMULTINATE For better media coverage & publicity With all leading news channels & news paper’s MEDIA MULTINATE (Rajasthan most popular Advertising/P.R./Media agency ) https://www.facebook.com/MediaMultinategroup/ — Press Conference , Media Management – call -8114426854 | MM NEWS TV को राजस्थान के सभी संभाग , जिले स्तर पर ब्यूरो हेड की आवश्यकता है संपर्क करें – 8114426854 | MM NEWS TV को राजस्थान के सभी संभाग , जिले स्तर पर ब्यूरो हेड की आवश्यकता है संपर्क करें – 8114426854 | MM NEWS TV को राजस्थान के सभी संभाग , जिले स्तर पर ब्यूरो हेड की आवश्यकता है संपर्क करें – 8114426854 | MM NEWS TV को राजस्थान के सभी संभाग , जिले स्तर पर ब्यूरो हेड की आवश्यकता है संपर्क करें – 8114426854 | MM NEWS TV को राजस्थान के सभी संभाग , जिले स्तर पर ब्यूरो हेड की आवश्यकता है संपर्क करें – 8114426854 | MM NEWS TV को राजस्थान के सभी संभाग , जिले स्तर पर ब्यूरो हेड की आवश्यकता है संपर्क करें – 8114426854 | MM NEWS TV को राजस्थान के सभी संभाग , जिले स्तर पर ब्यूरो हेड की आवश्यकता है संपर्क करें – 8114426854 | MM NEWS TV को राजस्थान के सभी संभाग , जिले स्तर पर ब्यूरो हेड की आवश्यकता है संपर्क करें – 8114426854 | MM NEWS TV को राजस्थान के सभी संभाग , जिले स्तर पर ब्यूरो हेड की आवश्यकता है संपर्क करें – 8114426854 |