मनोरंजन

आज भी कायम है अक्षय कुमार का जलवा, शहीदों के परिवार मानते हैं उन्हें असली हीरो

मनोरंजन 10 Jan, 2020 05:51 AM
akshay kumar

90 के दशक में अजय देवगन, सुनील शेट्टी और अक्षय कुमार बॉलीवुड के टॉप एक्टर माने जाते थे और खासकर इनकी छवि एक्शन हीरो की थी। लेकिन धीरे-धीरे अक्षय कुमार ने खुद को सिंगल कैटेगरी एक्टर की छवि से अलग कर लिया। पचास वर्षीय इस अभिनेता के साथी एक्टर अजय देवगन ने एक अलग राह पकड़ते हुए कंपीटिशन से खुद को अलग कर लिया और वो अपने घर के बैनर और कुछ चुनिंदा निर्देशकों के साथ काम करने लगे और सुनील शेट्टी तो बड़े पर्दे पर बहुत कम दिखाई देने लगे सुनील शेट्टी नाकाम होती फिल्मों के कारण से वो बॉलीवुड के मैदान में डट नहीं पाए।

अब अगर बॉलीवुड के अन्य हीरों की बात करें तो दो कद्दावर अभिनेता देओल ब्रदर्स यानि सनी और बॉबी देओल भी अपनी नाकाम होती फिल्मों और निर्माता-निर्देशकों की उनमें कम होती रूचि के कारण भी वो बॉलीवुड में खुद को स्थापित रखने में कामयाब नहीं हो सके, अपने कलीग एक्टर्स की इस तरह बॉलीवुड में कम होती फिल्मों से अक्षय कुमार के लिए बॉलीवुड का मैदान खाली होता गया। अगर अजय देवगन को अपवाद रखें तो अक्षय कुमार तब से अब तक निरंतर बॉलीवुड में अपनी सफलता के झंडे गाड़ रहे हैं।

आज बॉलीवुड में खान स्टार्स (आमिर, शाहरूख, सलमान) का एक तरफा नाम और  काम है। पिछले दो दशकों से बॉलीवुड पर राज कर रहे खान स्टार्स के आगे कोई नहीं टिक पा रहा है। पचास बसंत पार कर चुके इन स्टार्स का जलवा अब भी बॉलीवुड में कायम है, लेकिन अक्षय कुमार  ने इस कड़ी प्रतिस्पर्धा में भी अपना मुकाम बनाए रखा। अपने काम से काम रखने और विवादो से बचने की शैली पर चलने वाले अक्षय कुमार बॉलीवुड में खान स्टार्स के बाद सबसे ज्यादा लोकप्रिय और महंगे कलाकार हैं। अक्षय की हर साल 3-4 से चार फिल्में रिलीज होती हैं जो काफी सफल भी होती हैं। 2016 में अक्षय कुमार ने एयरलिफ्ट, रूस्तम जैसी सुपरहिट फिल्में दी हैं और काफी सफल रहीं हैं और 2017 के शुरूआत में तो उनकी जॉली एलएलबी-2 100 करोड़ से ज्यादा बिजनेस कर चुकी है।

यह तो रही बात अक्षय कुमार के चमकते फिल्मी करियर की, लेकिन एक आम इंसान के नजरिये से अक्षय कुमार को देखें तो उनके सीने में एक बहुत ही विनम्र इंसान का दिल धडक़ता है जो औरो के दुख से दुखी होता है और दूसरो के सुख में अपना सुख देखता है, और देख के हर मुद्दे पर अक्षय बेबाकी से अपनी राय रखते हैं चाहे देश की बेटियों की सुरक्षा का मुद्दा हो या सरहदों पर देशवासियों की हिफाजत के लिए दुश्मनों से लोहा ले रहे हमारे जवानों के हितों की रक्षा का मुद्दा हो। अक्षय कुमार देश में चल रहे हर हालात पर नजर रखते हैं और वक्त पडऩे पर बेबाकी से अपनी राय देते हैं।

देश में कई बार आतंकवादी हमले हुए,  ऐसे वक्त में अक्षय कुमार इन हमलों में शहीद हुए सैनिकों के घरवालों की मदद के लिए आगे आए और आर्थिक मदद की। अक्षय कुमार ने उरी हमले में शहीद हुए सैनिकों के घरवालों की आर्थिक मदद की और उनकी हर समस्या में उनके साथ होने का आश्वासन दिया। इतना ही नहीं अक्षय कुमार उनके हर दुख में उनके साथ रहने का वादा किया। अक्षय कुमार ने इन हमलों पर जहां राजनीतिक एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप में लगे थे वहंीं अक्षय कुमार ने एक बयान देकर सबको चुप कर दिया। अक्षय कुमार ने एक ट्वीट कर कहा कि सैनिकों को सिर्फ देशभक्ति की नहीं बल्कि उन्हें पैसों की भी जरूरत होती है जो उनके और उनके परिवार के लिए बहुत जरूरी होता है।

अक्षय कुमार इस बयान के पहले शहीद सैनिकों के घरवालों की आर्थिक मदद कर चुके थे।  खिलाड़ी कुमार के नाम से मशहूर बॉलीवुड सुपरस्टार अक्षय कुमार ने हमेशा से लीक से हटकर फिल्में की हैं और उन्होंने हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री में अपना एक अलग ही मुकाम बनाया है। फिल्म सौगंध से बॉलीवुड करियर की शुरूआत करने वाले अक्षय कुमार की छवि एक्शन हीरो के रूप में स्थापित हुई थी। लेकिन धीरे-घीरे अक्षय कुमार ने अपने आपको हर तरह के किरदार में ढाल लिया पिछले 25 सालों से बॉलीवुड में अक्षय कुमार बराबर हिट फिल्में दे रहे है और उनका सिंहासन कोई भी प्रतिद्विंद्वी स्टार हिला नहीं पाया।

Follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News

eg
dr. manish ad
media multinate banner
kid-zee
25 करोड़ के सट्टे का हिसाब-किताब पकड़ा, 6 सटोरिए गिरफ्तार | राजस्थान की पांच हस्तियां होंगी पद्म श्री से सम्मानित | राजस्थान विधानसभा में नागरिकता कानून बिल के खिलाफ प्रस्ताव पास, विपक्ष का हंगामा | उदयपुर की रहने वाली टीवी एक्ट्रेस ‘दिल तो हैप्पी है जी’ फेम सेजल शर्मा ने किया सुसाइड | छात्रों के लिए बड़ी खबर: कॉलेज और यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले छात्रों को मिलेगी पढाई खर्च से राहत, जानिए कैसे | उपमुख्यमंत्री को माफी मांगनी चाहिये: राजेन्द्र राठौड़ | सूचना जनसंपर्क अधिकारी उड़ा रहे जनसंपर्क मंत्री रघु शर्मा के आदेशों की धज्जियां | बीकानेर: झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्रवाई, क्लिनिक सीज  | टोंक: जींस-टीशर्ट नहीं पहन कर आने का आदेश तत्काल प्रभाव से निरस्त, DEO को कारण बताओ नोटिस | ट्रक व ट्रोले की भीषण टक्कर, चार लोगों की दर्दनाक मौत |